करणी सेना की धमकी के बाद ‘हिम्मतवाला’ और ‘हमशकल्स’ के पोस्टर्स की मांग बढ़ी, जानिए क्यों?

(Satire : Demand for ‘Himmatwala’ and ‘Humshakals’ posters increased after the threat of Karni Sena, know why?)

हिंदी सटायर डेस्क। सुप्रीम कोर्ट द्वारा 25 जनवरी को देशभर में पद्मावती उर्फ पद्मावत को रिलीज करने की अनुमति देने और करणी-सेना की धमकियों के बाद अचानक से साजिद खान की दो फिल्मों – हिम्मतवाला और हमशकल्स के पोस्टर्स की मांग बढ़ गई है। यह मांग देशभर के सिनेमाघरों की ओर से आई है। इससे करणी सेना के सैनिकों में भी अफरातफरी का आलम है। कई करणी सैनिकों ने पोस्टर्स की मांग को देखते हुए सिनेमाघरों पर हमला करने वाली लिस्ट में से अपने नाम कटवा लिए हैं।

हिम्मतवाला और हमशकल्स के पोस्टर्स की क्यों बढ़ी मांग?

हिंदी सटायर की टीम ने इस पूरे मामले की पड़ताल की तो मजेदार कारण सामने आया। दरअसल, करणी सेना ने धमकी दी है कि अगर सिनेमाघरों में पद्मावत मूवी चलाई गई तो उन्हें इसके नतीजे भुगतने होंगे। चूंकि सिनेमाघर के मालिक इतनी बड़ी कमाई वाली मूवी को चलाने का लोभ छोड़ना नहीं चाहते। इसलिए उन्होंने करणी सेना के लोगों को डराने के लिए यह चाल चली है। इसके तहत सभी सिनेमाघरों के बाहर हिम्मतवाला या हमशकल्स मूवीज के पोस्टर लगा दिए जाएंगे। सिनेमाघर के मालिकों को उम्मीद है कि इन पोस्टर्स को देखकर करणी सेना वालों को लगेगा कि सिनेमाघरों में हिम्मतवाला या हमशकल्स चल रही है। इससे वे इस डर से थिएटरों के सामने फटकेंगे भी नहीं कि क्या पता उन्हें ये मूवी देखने के लिए बिठा लिया जाए और आधी मूवी के दौरान ही उन्हें जौहर करना पड़े। जैसे भी हैं, आखिर वे भी इंसान ही हैं।

करणी-सेना ने क्या कहा?

सिनेमाघरों की इस नई चाल से करणी सेना डिफेंसिव मूड में आ गई है। करणी सेना के एक प्रवक्ता ने कहा – “सिनेमाघरों के मालिक हिम्मतवाला/हमशकल्स के पोस्टर लगाने की प्लानिंग करके नीचता पर उतर आए हैं। उन्हें पता है कि हमारे लोग अब सिनेमाघरों के आसपास फटकेंगे भी नहीं। लेकिन इसका बदला हम अगली किसी फिल्म के समय लेंगे। देखते हैं पोस्टर्स कब तक उनकी रक्षा करते हैं।” इतना कहते ही प्रवक्ता यह कहते हुए भाग निकला कि है मैया पद्मिनी, हमें इन पोस्टर्स को सहन करने की शक्ति देना।

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पिल है। इसका मकसद केवल स्वस्थ मनोरंजन करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)

करणी-सेना पर यह भी पढ़ें…

करणी सेना भी कोर्ट पहुंची, पद्मावत के खिलाफ प्रदर्शन की मांगी संवैधानिक अनुमति

पद्मावत की राह में सरकार का नया फच्चर, कहा- पहले आधार से लिंक करवाओ 

————————————————————————————————-

Google Translation (With small modification) 

Demand for ‘Himmatwala’ and ‘Humshakals’ posters increased after the threat of Karni Sena, know why?

Desk. The demand for posters of Sajid Khan’s two films – Himmatwala and Humshakals – has suddenly increased after the Supreme Court on January 25 allowed the release of Padmavati aka Padmavat across the country and threats from Karni-Sena. This demand has come from theaters across the country. Due to this, there is a lot of chaos among the soldiers of Karni army. Many Karni soldiers have taken their names out of the list of theaters attacking theaters in view of the demand for posters.

Why the demand for the posters of Himmatwala and Humshakals increased?
When the team of Hindi cinema investigated this whole matter, a funny reason came out. Actually, Karni Sena has threatened that if the Padmavat movie is played in theaters, they will have to bear the consequences. Since cinema owners do not want to give up the temptation to play such a big grossing movie. So they did this trick to intimidate the people of Karni Sena. Under this, posters of Himmatwala or Humshakals movies will be installed outside all theaters. The owners of cinemas hope that by seeing these posters, the Karni Sena people will feel that there are Himmatwala or Humshakals going on in theaters. With this fear, they will not even stand in front of theaters, whether they know that they will be seated to watch this movie and they have to do Jauhar only during half the movie. However, they are also human beings.

What did the Karni-Sena say?
This new move of cinemas has put Karni Sena in a defensive mood. A spokesperson for the Karni Sena said – “The owners of theaters have come down to the plan by planning to put up posters of Himmatwala / Humshakals. They know that our people will not even go around theaters anymore. But we will take revenge on it for the next film. Let’s see how long posters protect them. ” As soon as the spokesperson ran away saying, “Maia Padmini, give us the power to bear these posters”.