केबीसी में आए वाड्रा, लेकिन ‘डील’ पर बढ़ा विवाद तो छोड़ दिया शो

केबीसी , KBC, KBC jokes, वाड्रा पर जोक्स, केबीसी जोक्स

By Jayjeet

मुंबई। रॉबर्ट वाड्रा की लगातार बढ़ती लोकप्रियता के कारण उन्हें ‘कौन बनेगा करोड़पति’ (केबीसी – KBC) के शो में भी बुलवाया गया था। लेकिन इसकी रिकॉर्डिंग के दौरान वहां कुछ ऐसी अप्रिय स्थिति पैदा हो गई कि उस शो को रद्द करना पड़ा। इसका एक टेप hindisatire के हाथ लगा है। इसके मुख्य अंश :

बिग बी : वाड्राजी, कौन बनेगा करोड़पति में आपका स्वागत है।
रॉबर्ट : धन्यवाद सर।
बिग बी : आपको नियम तो पता ही होंगे, फिर भी मैं बताए देता हूं।
रॉबर्ट : वैसे तो जब हमारा राज था तो मुझे कोई नियम बताने की हिम्मत नहीं करता था।
बिग बी : हम्म…! मैं कुछ समझा नहीं!
रॉबर्ट : जी आप तो नियम बताइए। अब कम से कम नियम सुनने तो पड़ेंगे ही।
बिग बी : हां तो सबसे पहले मैं आपको लाइफलाइन के बारे में बता देता हूं।
रॉबर्ट : वो तो मैं जानता हूं कि कौन हैं मेरी लाइफलाइन।
बिग बी (हंसते हुए): नहीं नहीं, मैं प्रियंकाजी की बात नहीं कर रहा हूं।
रॉबर्ट (भी हंसते हुए): मैं भी प्रियंका की बात नहीं कर रहा हूं। सब जानते हैं कि जहां मेरी लाइन खींच जाती है, वही लाइफ बन जाती है।
बिग बी : आप क्या प्लॉट्स या जमीनों की बात कर रहे हैं?
रॉबर्ट : सर, यह गलत बात है। आपके लोगों से मेरी डील हुई है कि इस शो में आप मुझसे जमीन संबंधी कोई सवाल नहीं पूछेंगे?
बिग बी (आश्चर्य के साथ): यह डील आपने कहां, कैसे, किसने कर ली? और मुझे पता भी नहीं चला।
रॉबर्ट (हंसते हुए): मेरी डील की खासियत ही यह होती है कि किसी को कुछ पता ही नहीं चलता। और इस डील के मुताबिक आप जमीन संबंधी कोई सवाल नहीं पूछेंगे।
बिग बी : यह मैं कैसे कह सकता हूं?
रॉबर्ट (गुस्से में) : आर यू सीरियस? आर यू सीरियस? आप इस शो के प्रति सीरियस हैं भी या नहीं!
तभी बिग बी अपने स्टॉफ से हेलमेट बुलवा लेते हैं।
रॉबर्ट फिर बोलते हैं : आप सीरियस तो हैं ना? (और वे ऐसा चार बार बोलते हैं)। फिर हॉट सीट से उठ जाते हैं। ‘मुझे नहीं करना है यह शो-वो जहां मेरी डील की कोई अहमियत नहीं है। और हां, यह कैमरा बंद करवा दीजिए।’
इसके बाद वे तेजी से बाहर निकल जाते हैं। केबीसी के सेट पर मौजूद स्टॉफ को रिकॉर्डिंग को डिलीट करने के लिए भी कहते सुना गया।

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पित है। इसका मकसद केवल स्वस्थ मनोरंजन और सिस्टम पर कटाक्ष व व्यंग्य करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)