Evergreen

Evergreen

सरकारी फाइल और कछुए की रेस

By जयजीत अकलेचा सरकारी फाइल को शुरू से ही कछुए से काॅम्पलैक्स रहा है। जब-तब उस पर कछुए का टैग लगता रहा है। तो एक...

न्यू ईयर रिजोल्यूशन की ऐसी की तैसी

By जेजे आज सुबह उठे और घड़ियों की सुइयों पर नजर दौड़ाई तो नौ बज चुकी थी। शिट, सोचा था, नए साल से सुबह जल्दी...

रामलीला में रावण लीला

 by जयजीत अकलेचा हर बार की तरह इस बार भी हमारी बस्ती में रामलीला का आयोजन था, लेकिन इस बरस एक गड़बड़ हो गई। हर...

कहाँ दाल, कहाँ मुर्गी!

(अतिथि व्यंग्यकार) ब्रजेश कानूनगो मुर्गी फिर चर्चा में है इन दिनों. महंगाई के दौर में कुछ अलग ढंग से चर्चा में है. प्रजातंत्र में किसी...

हाउसमेड रखने के लिए इंटरव्यू की तैयारी

घर के कामों के लिए हाउसमेड ढूंढना अब किसी कठिन परीक्षा से कम नहीं है। ऐसे में अगर इसके लिए सच में परीक्षा होने...

तक्षक की नागपंचमी पार्टी

नागराज तक्षक बुढ़ा गए हैं, लेकिन नागपंचमी पर पार्टी करने का शौक गया नहीं। सदियों से वे यह मिल्क पार्टी थ्रो करते आए हैं।...

स्कूल में निरीक्षण और गड़बड़ घोटाला!

आज स्कूल में बहुत चहल-पहल है। सब कुछ साफ-सुथरा, एकदम सलीके से। दरअसल, निरीक्षण के लिए कोई साहब आने वाले हैं। साहब नियत समय पर स्कूल...

‘हस्बैंड 1.0’ ऑपरेटिंग सिस्टम को सुधारने के नुस्खे!

जिंदगी अगर कम्प्यूटर होती और रिश्ते प्रोग्राम तो शायद इसमें भी हमें कस्टमर केयर को फोन कर टेक्नीकल सपोर्ट की मदद लेनी पड़ती। कुछ...

नारद मुनि उवाच डिजिटली

(अतिथि व्यंग्यकार) अरविन्द कुमार सुबह-सुबह अपने सेटेलाइट पर विष्णु भगवान की कॉल देख कर पहले तो नारद मुनि ने सोचा कि कहलवा दें कि वे...

‘कुत्तों’ का कृतज्ञता ज्ञापन!

(अतिथि व्यंग्यकार) ओम वर्मा तमाम देशी से लेकर विदेशी नस्ल वाले, 'हल्कू' के खलिहान में पूस की रात में ठिठुरते 'जबरा' से लेकर जेठ की...