#CbseResults2020 : स्टूडेंट के 500 में से आए केवल 500 नंबर, सदमे में पूरी फैमिली

CBSE Results , CBSE Results 2017, jokes on results, funny image, hindi jokes, हिंदी जोक्स, फनी इमेज
इसने कहीं मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ा।
( cbse-results : student gets only 500 marks out of 500 , family in deep shock )

By Jayjeet

हिंदी सटायर डेस्क, नई दिल्ली। CBSE की बारहवीं परीक्षा के गुरुवार को घोषित नतीजों के बाद से ही अलकापुरी स्थित एक घर में मातम पसरा हुआ है। यह घर एक निजी कंपनी में मैनेजर आरके शर्मा का है। इनके बच्चे सौरभ ने शर्मा परिवार को कहीं मुंह दिखाने के लायक नहीं छोड़ा है। साइंस स्ट्रीम के छात्र सौरभ के 500 में से केवल 500 नंबर आए हैं। शर्माजी को उम्मीद थी कि सौरभ 500 में से 501 नंबर आकर रिकाॅर्ड रचेगा, लेकिन वह इसमें असफल रहा। स्कूल की प्राचार्य ने भी कहा, “हमारी सारी उम्मीदें चूर-चूर हो गईं।”

हमारे इस संवाददाता ने आरके शर्मा से इस मामले में चर्चा करने की कोशिश की, लेकिन परिवार के अन्य सदस्यों ने बताया कि शर्माजी इस घटना के बाद से ही सदमे में हैं और बात करने की स्थिति में नहीं हैं। सौरभ के चाचा श्यामलाल शर्मा ने कहा, “हमें इस लड़के से बहुत उम्मीद थी, लेकिन इसने पूरे मोहल्ले और पूरे कुटुंब में हमारी नाक कटा दी।” इस बीच सौरभ की चाची ने कहा कि जो हो गया सो हो गया, लेकिन हमें सौरभ को भी संभालना चाहिए। कहीं वह कुछ उलटा-सीधा न कर लें। इसके बाद से श्यामलाल अपने भतीजे पर कड़ी नजर रख रहे हैं।

शर्माजी के पड़ोसी वैभव खन्ना ने बताया, “शर्माजी हमारी कॉलोनी की शान रहे हैं। मैं तो उन्हें शुरू से जानता हूं। उन्होंने केजी-1 से ही सौरभ का विशेष ख्याल रखा। इसके लिए उन्होंने तीन-तीन टीचरों को ट्यूशन पर रखा। मुझे याद है, जब बच्चे के 99 फीसदी अंक आए तो उन्होंने उसे दो दिन तक खाना तक नहीं दिया था। इसी का नतीजा रहा कि इसके बाद उसके हमेशा सौ फीसदी नंबर आए। ऐसे में अगर इस बार उन्होंने 500 में से 501 नंबर लाने की उम्मीद रखी थी तो यह सौरभ की जिम्मेदारी बनती थी कि वह अपने पिता के सपने को पूरा करता।” उन्होंने गहरी सांस भरते हुए कहा, “पता नहीं, ऐसे बच्चे इस देश को कहां ले जाएंगे!”

(Disclaimer : यह खबर और दिए गए नाम कपोल-कल्पित हैं। इसका मकसद केवल स्वस्थ मनोरंजन और एजुकेशन सिस्टम पर कटाक्ष करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)

यह भी पढ़ें… Satire : पिस्तौल का दुख, हीरोइन के बजाय दुनिया अब भी चरित्र अभिनेत्री ही मानती है

——————————————————————-

Google Translate : (With a small modification)

#CbseResults2020: student gets Only 500 marks out of 500 , family in deep shock

New Delhi. There have been mourning in a house in Alkapuri since the results declared on Monday of CBSE’s twelfth examination. The house belongs to RK Sharma, a manager in a private company. His child Saurabh has left the Sharma family nowhere to be seen. Saurabh, a science stream student, has only 500 out of 500. Sharma hoped that Saurabh would score 501 out of 500, but he failed in it. The school principal also said, “All our hopes were crushed.”

Our correspondent tried to discuss this matter with RK Sharma, but other family members said that Sharmaji was in shock and not in a position to talk since the incident. Saurabh’s uncle Shyamlal Sharma said, “We had high hopes from this boy, but it bitten our noses in the entire locality and the whole family.” Meanwhile, Saurabh’s aunt said that whatever happened is done, but we should also handle Saurabh. Somewhere, do not reverse it. Since then Shyamlal has been keeping a close watch on his nephew.

Sharma’s neighbor Vaibhav Khanna said, “Sharmaji is the pride of our colony. I have known him from the beginning. He took special care of Saurabh from KG-1. For this, they put three teachers on tuition. I remember when the 99 percent mark of the child came, they did not even give him food for two days. As a result of this, after that he always got hundred percent number. So, if he had expected 501 out of 500 this time, it would have been Saurabh’s responsibility to fulfill his father’s dream. ” He took a deep breath and said, “I don’t know where such children will take this country!”