एक परेशान EVM के साथ इंटरव्यू, मीडिया इंडस्ट्री में पहली बार

evm hacking, evm is tamper proof, how evm works, ईवीएम कैसे काम करती है?, क्या ईवीएम टैंपरप्रूफ है?, हार्दिेक का ईवीएम हैकिंग का आरोप, hardik patel EVM, hindi satire, gujarat me chunav results, गुजरात चुनाव, funny pics

By A. Jayjeet

हिंदी सटायर डेस्क। इस समय गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों में यूज की गई सारी ईवीएम (EVM) बंद दरवाजों के पीछे आराम फरमा रही हैं। लेकिन उनमें एक अजीब-सी बेचैनी भी है। यह बेचैनी उस समय और बढ़ गई,जब हार्दिक पटेल ने कह दिया कि मतगणना की एक रात पहले 5 हजार ईवीएम के साथ छेड़छाड़ हो सकती है। Hindisatire.com ने ऐसी ही एक बेचैन और परेशान ईवीएम को ब्लू टूथ से कनेक्ट कर बात करने की कोशिश की। नाम न छापने की शर्त पर वह इंटरव्यू देने के लिए तैयार हो गई। पेश है उस इंटरव्यू के कुछ खास अंश। किसी भी मीडिया ग्रुप को किसी EVM द्वारा दिया गया यह पहला इंटरव्यू है।

हिंदी सटायर : कुछ घंटे बचे हैं। कैसा फील हो रहा है? कुछ नर्वसनेस?
EVM : हां, बहुत बेचैनी है, घबराहट फील हो रही है।

हिंदी सटायर : क्यों?
EVM : क्यों क्या? अगर किसी के चाल-चलन पर लगातार शक किया जाए तो क्या अच्छा लगेगा? अगर आपकी बहन-बेटी को कोई कुलक्षणी कहेगा तो क्या आपको अच्छा लगेगा?

हिंदी सटायर : पर अापको ऐसा क्यों लग रहा है कि लोग आपके कैरेक्टर पर सवाल उठा रहे हैं?
EVM : अरे भाई, अब तो यह हर चुनाव की बात हो गई है। एक पार्टी के लोग हारते नहीं कि दूसरी पार्टी के लोगों पर आरोप लगा देते हैं कि उन्होंने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की। कभी आरोप लगाते हैं कि चुनाव आयोग के लोग मिलकर हमारे साथ छेड़छाड़ कर रहे हैं। ये क्या है? ये एक तरह से हमारे कैरेक्टर पर ही उंगली उठाना हुआ। मतलब तो यही हुआ ना कि वे छेड़ रहे हैं और हम छिड़ रही है। इसकी आड़ में लाेग हमें कुलक्षणी तक बोल रहे हैं!

हिंदी सटायर : तो कल क्या फिर इसी का डर है?
EVM : और नहीं तो क्या? हार्दिक ने तो पहले ही बोल दिया कि हमारी 5 हजार बहनें छिड़ने के लिए तैयार बैठी हैं। छी छी…छिछोरेपन की भी हद तक होती है…

हिंदी सटायर : तो आप मौका ही क्यों देती है छेड़छाड़ का?
EVM : यह पुरुष प्रधान समाज है। भले ही महिला की गलती हो या न हो, इज्जत तो उसी की उतारी जाती है। इसलिए मेरा कहना है कि कोई भी आरोप लगाने से पहले सच्चाई तो पुख्ता कर लो कि वाकई किसी ईवीएम के साथ छेड़छाड़ हुई भी या नहीं। और फिर माइंडसेट बदलने की भी जरूरत है। अगर किसी ने किसी ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की भी तो छेड़छाड़ करने वाले को पकड़ो। पूरी ईवीएम बिरादरी पर उंगली उठाना कहां का न्याय है?

हिंदी सटायर : कल के नतीजों के बारे में क्या कहना है?
EVM : भाई, अब बाकी की बातें बाद में करेंगे। अब तुम जाओ, किसी ने देख लिया तो तुम्हारा तो कुछ नहीं बिगड़ेगा। तुम तो पुरुष हो। हमें ही ताने दिए जाएंगे कि चालू ईवीएम किस गैर मर्द के साथ नजरें लड़ा रही थीं।

(Disclaimer : यह खबर कपोल कल्पित है। इसका मकसद केवल व्यंग्य और सटायर करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)