बैंगलोर में धरना दे रहे थे नेता, फिर देखिए गांधीजी की मूर्ति के साथ क्या हुआ?

karnataka-drama , Congress-JDS Stage dharna, political jokes, कर्नाटक का ड्रामा, कांग्रेस-जेडीएस का धरना, कांग्रेस पर जोक्स, बीजेपी पर जोक्स, राजनीतिक व्यंग्य, महात्मा गांधी

(karnataka-drama) हिंदी सटायर डेस्क, बेंगलुरु। पूर्ण बहुमत नहीं होने के बावजूद कर्नाटक में बीजेपी को सरकार बनाने का न्यौता देने के विरोध में कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं व विधायकों ने गुरुवार को बंगलौर विधानसभा परिसर में बनी महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास धरना दिया। लेकिन वहां ऐसी घटना हो गई जिस पर किसी को यकीन नहीं आएगा।

एक प्रत्यक्षदर्शी एच. हनमन्थप्पा ने हिंदी सटायर को बताया, “मैं नेताओं का तमाशा देख रहा था। उसी समय मुझे अचानक बापू की प्रतिमा में कुछ मूवमेंट नजर आया। मैंने ध्यान से देखा तो मुझे बापू की आंखों से एक-दो आंसू टपकते हुए नजर आए। वे प्रतिमा के नीचे बैठे किसी नेता की जैकेट पर गिरे, लेकिन नेता नारेबाजी में व्यस्त था। इसलिए शायद उसने ध्यान नहीं दिया।” उसने आगे बताया- “ फिर मैं देखता हूं कि बापू ने आंसू पोंछ लिए। इसके बाद वे लगातार अपनी हथेलियों से कभी आंखें बंद कर रहे थे तो कभी कान। ऐसा लग रहा था मानो वे राज्य में हो रहे नाटक को देखने और सुनने से बचने की कोशिश कर रहे थे।”

एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी एस. रमेश राव ने भी इसकी पुष्टि करते हुए कहा- “जी हां, मैंने भी बापू की प्रतिमा में कुछ हलचल महसूस की। उनकी आंखों में कुछ गीलापन भी नजर आया। मैंने तो मीडिया वालों को भी बताने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने मुझे यह कहकर झटक दिया कि चलो दूर हटो, बापू की फालतू खबरें चलाने से हमारी टीआरपी नहीं बढ़ने वाली।”

घटना पर कांग्रेस, जेडीएस और भाजपा की ऐसी रही प्रतिक्रिया :

राजनीतिक दलों के नेताओं ने इन खबरों को बकवास करार दिया है। सबसे पहले हमने जेडीएस के एक नेता से पूछा तो उसने कहा- “I don’t believe this. It’s total rubbish… यह बकवास कहानी है। अब कहां बापू में जान आएगी!” उन्होंने बीजेपियों पर टॉन्ट मारते हुए कहा – क्या बापू भगवान गणेशजी हैं जो कभी भी दूध पीने लगे! हां हां हां…।”

धरने पर बैठे एक कांग्रेसी नेता ने कहा- “मेरी पीठ पर कुछ गीला-गीला सा महसूस तो हुआ था। लेकिन मुझे नहीं लगता कि वे बापू के आंसू होंगे। शायद किसी चिड़िया की बीट होगी।”

इस बारे में एक भाजपा नेता ने कहा- “हमें ऐसे अंधविश्वासों पर भरोसा नहीं करना चाहिए। देश मोदीजी के नेतृत्व में विकास के मार्ग पर आगे बढ़ चुका है। हम कर्नाटक को भी विकास के मार्ग पर इतना तेज भगाएंगे कि कोई पकड़ नहीं पाएगा।”

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पित है। इसका मकसद स्वस्थ मनोरंजन और सिस्टम पर कटाक्ष करना है। )