‘कुंभकर्ण’ को कांग्रेस बनाएगी चुनावी मुद्दा, खुशी के मारे चार दिन से सो नहीं पाईं सोनिया

Kumbhakarna-rahul , Kumbhakarna-rahul jokes, Kumbhakarna, कुंभकर्ण राहुल गांधी, कुंभकर्ण राहुल जोक्स, राहुल पर जोक्स, rahul jokes, congress jokes, jayjeet aklecha

By Jayjeet

नई दिल्ली। भले ही भाजपा और नरेंद्र मोदी कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी द्वारा कुम्भाराम की जगह कुंभकर्ण बोलने का मजाक बना रही हो, लेकिन कांग्रेसियों में खुशी की लहर है। इस मौके पर कांग्रेसी आज देशभर में ‘कुंभकर्ण विजय दिवस’ मना रहे हैं। वहीं, पार्टी ने इसे अगले लोकसभा चुनाव में चुनावी मुद्दा बनाने का भी निश्चय किया है।

गांधी परिवार के एक करीबी ने भावुक होते हुए कहा, “पिछली बार राहुल भैया विश्वेश्वर…विश्वईसवरैया, मतलब जो भी है, नहीं बोल पाए थे तो बीजेपी वालों ने खूब मजाक बनाया था। मोदी भी खूब मजे ले रहे थे। अब भैया ने मुहतोड़ जवाब दिया है। ‘कुंभकरण’ को कितना सटीक प्रोनाउंस किया है कि बीजेपियों की बत्ती गुल हो गई है।”

इस बीच, कांग्रेस के एक वरिष्ठ और गंभीर टाइप के नेता ने संकेत दिए हैं कि अगले लोकसभा चुनाव में यह पार्टी का चुनावी मुद्दा भी हो सकता है। पार्टी इस मुद्दे को लेकर जनता के बीच जाएगी और पूछेगी कि अगर राहुलजी कुंभकर्ण को सही ढंग से उच्चारित कर सकते हैं तो सोचिए देश के लिए कितने बड़े-बड़े काम कर सकते हैं। पार्टी में इस बात पर लगभग सहमति बन चुकी है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों, बेरोजगारी, नोटबंदी, गरीबी जैसे घिसे-पिटे मुद्दों को लेकर सड़क पर उतरने के बजाय यह कहीं ज्यादा मारक मुद्दा होगा। चूंकि इसमें थोड़ा धर्म-पुराण भी जुड़ा है तो हिंदू वोटर्स पर भी अच्छा असर कर सकता है।

सोनिया अब भी विस्मित : उधर, गांधी परिवार के उसी करीबी सूत्र ने यह भी बताया कि राहुल द्वारा ‘कुंभकरण’ को बिल्कुल सही ढंग से उच्चारित करने की घटना के बाद से ही सोनिया गांधी बेहद विस्मित, मगर खुश हैं। घटना के तीन दिन बाद भी वे खुशी के मारे सो नहीं पाई हैं। उन्हें यकीन नहीं हो पा रहा है कि यह वही उनका बेटा राहुल है। बार-बार यही बोले जा रही हैं कि कित्ता मैच्योर हो गया हे रे बाबा…

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पित है। इसका मकसद केवल हास्य-व्यंग्य करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)