महाराष्ट्र : कांग्रेसी विधायकों ने अमित शाह को लिखा मार्मिक पत्र, नैतिकता के आधार पर मांगा इस्तीफा

maharashtra-politics , maharashtra-government, congress MLA, amit shah jokes, comgress jokes, horse treding, अमित शाह पर जोक्स, जयजीत, jayjeet

(By Jayjeet)

मुंबई। आखिरकार महाराष्ट्र में कांग्रेस विधायकों का धैर्य जवाब दे गया। सरकार गठन की बनती-बिगड़ती संभावनाओं के बीच उन्होंने अमित शाह को एक संयुक्त पत्र लिखा है। इसकी एक प्रति ‘हिंदी सटायर’ के हाथ लगी है। पेश है पूरा पत्र :

आदरणीय अमित भाई,

पिछले करीब 25 दिन से हम रोज छींका फूटने की उम्मीद करते, लेकिन वह अब भी बहुत ऊपर टंगा हुआ हमें ललचा रहा है। इस बीच, बाघ को बिल्ली बनते हुए भी हमने देख लिया, लेकिन वह भी छींके तक नहीं पहुंच पाई है। धीरे-धीरे हर उम्मीद जवाब देने लगी है। तो ऐसे में आशा की आखिरी किरण बस आप ही हैं। पहली भी आप ही थे।

अमित भाई, आपके बहुत चर्चे सुन रखे हैं, पार्टी में भी और पार्टी से बाहर भी। हमारी पार्टी में तो यह डॉयलाग बहुत फेमस है : यहां से 50-50 कोस दूर किसी रिजॉर्ट में जब कोई विधायक मुंह फाड़ता है तो पार्टी के बड़े नेता कहते हैं, बेटा सो जा, नहीं तो अमित शाह आ जाएगा।

पर आपके आने की प्रतीक्षा में तो हमारी आंखें ही पथरा गई हैं। दिल जवाब देने लगा है। तो अब हम यह मान लें कि आपकी वह ख्याति केवल दंतकथा मात्र थी? केवल एक छलावा थी? अगर वह ख्याति केवल मिथक थी, तो आप खुद ही सोचिए कि आज की राजनीति में बने रहने का आपका क्या अधिकार है? क्या आपको नहीं लगता कि इस नाकामी को स्वीकार कर आपको नैतिकता के आधार पर राजनीति से इस्तीफा दे देना चाहिए? वैसे हम तो क्या, प्रत्येक हंग विधानसभा का कोई भी जनप्रतिनिधि यह नहीं चाहेगा। हम तो चाहेंगे कि आप और आपके आदर्श भारतीय राजनीति में दीर्घायु हों। अमित जी, अपने पुराने प्रताप को याद कीजिए और हमें अपनी शरण छाया में आने का एक मौका दीजिए।

आपके ही सभी भोले-भाले कांग्रेसी विधायक

(संयुक्त हस्ताक्षर)

CC..
आदरणीय सोनिया जी
स्थाई अध्यक्ष, कांग्रेस

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पित है। इसका मकसद केवल राजनीतिक कटाक्ष करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)