नेशनल डैम घोषित हुआ मुंबई, बिल राज्यसभा में ध्वनि मत से पारित

mumbai-rain , mumbai-rain jokes, mumbai-rain satire, मुंबई पानी पानी, बारिश पर जोक्स, मानसून जोक्स, rain jokes, monsoon jokes

By jayjeet

हिंदी सटायर डेस्क। राज्यसभा ने आज मंगलवार को ‘मुंबई नेशनल डैम’ बिल को ध्वनि मत से पारित कर दिया। इसके तहत बारिश के मौसम में मुंबई अपने आप ‘नेशनल डैम’ घोषित हो जाया करेगा। इससे मुंबई की सड़कों और इमारतों पर बिजली के संयंत्र लगाकर भारी मात्रा में बिजली बनाना भी संभव हो सकेगा। लोकसभा इस बिल को पहले ही पारित कर चुका है।

राज्यसभा में बिल पर चर्चा करते हुए केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि यह हर साल की कहानी बन गई थी कि मानसून आते ही मुंबई में पानी भर जाता था। मीडियावाले भी ‘मुंबई पानी पानी’ जैसी खबरें चलाकर सबका टाइम खोटी किया करते थे और सरकार को पानी पानी कर देते थे। इसलिए हमने इसके स्थाई समाधान पर विचार किया। इसी के तहत हम यह क्रांतिकारी बिल लेकर आए हैं, जिस बारे में हमारी पूर्ववर्ती किसी सरकार ने सोचा तक नहीं।

क्या होगा फायदा?
इस संबंध में हमने जलशक्ति मिशन में तैनात एक वरिष्ठ अधिकारी से बात की। उन्होंने इसके ये फायदे गिनाए:
– डैम घोषित होने से मुंबई की सड़कों और इमारतों पर बिजली के संयंत्र लगाना संभव हो सकेगा। इससे काफी बिजली बनाई जा सकेगी जिससे ‘हर घर को बिजली’ जैसी मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के क्रियान्वयन में आसानी होगी।
– डैम घोषित होने से यहां ओला और उबर जैसी कंपनियां ‘बोट सेवा’ शुरू कर सकेगी। इससे रोजगार के नए अवसर पैदा हो सकेंगे।
– दुनिया में हम मुंबई को इटली के वेनिस शहर की प्रतिस्पर्धा में खड़ा कर सकेंगे। इससे पर्यटन के क्षेत्र में नई संभावनाएं पैदा होंगी।
– इससे आगे पूछने पर बोले, “इस बारिश में इतना ही, आओ पकोड़े खाते हैं।”

(Disclaimer : यह खबर कपोल कल्पित है। इसका मकसद सिस्टम पर कटाक्ष करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)