Delhi Smog : नेताओं को दिल्ली से बाहर कर दो, प्रदूषण कम हो जाएगा : WHO

Pollution in Delhi दिल्ली में धुआं , smog in delhi, jokes

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में बढ़ते पॉल्यूशन को रोकने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने यहां मौजूद तमाम नेताओं को अगले एक माह तक मंगल ग्रह पर भेजने की सिफारिश की है। WHO के अनुसार दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति के बदतर होने में नेताओं का ही बड़ा हाथ है।

WHO ने भारत सरकार को दी अपनी एडवाइजरी में कहा है – दिल्ली में बढ़े प्रदूषण की तीन मुख्य वजह हैं – 1. पड़ोसी राज्यों में जल रही पराली, 2. बैन के बावजूद दिवाली के दौरान काफी संख्या में फटे पटाखे 3. राजधानी में नेताओं का विशाल जमघट और बयानबाजी।

WHO की एक लेटेस्ट स्टडी के अनुसार दिल्ली के इस प्रदूषण में नेताओं और उनकी बयानबाजी का योगदान करीब 35 फीसदी है। अगर सारे नेताओं को मंगल या बुध ग्रह में भेज दिया जाए तो इस एक तिहाई प्रदूषण को कम करके स्थिति को कंट्रोल में किया जा सकता है।

केजरीवाल ने कहा- बयानबाजी करेंगे, लेकिन मुंह पर कपड़ा बांधकर

WHO की एडवाइजरी पर केंद्र अमल करने को तैयार है। लेकिन दिल्ली की केजरीवाल सरकार इसके लिए राजी नहीं है। सूत्रों के अनुसार, अरविंद केजरीवाल ने साफ कह दिया है कि बयानबाजी करना हमारा राजनीतिसिद्ध अधिकार है। हालांकि, वे बयान देने से पहले मुंह पर कपड़े का मास्क पहनने को राजी हो गए हैं। जानकारों के अनुसार अगर सारे नेता बयानबाजी करने से पहले मुंह पर कपड़े का मास्क ही पहन लें तो इससे भी बयानों की गंदगी को वातावरण में फैलने से काफी हद तक रोका जा सकता है।

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पित है। इसका मकसद केवल स्वस्थ मनोरंजन और राजनीतिक व्यंग्य-कटाक्ष करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)

ये भी पढ़ें : सर्दी की भविष्यवाणी के लिए केजरीवाल के मफलर पर नजर रखेगा मौसम विभाग