Rahul को कांग्रेस की कमान : क्या BJP में लोकतांत्रिक तरीके से होते हैं चुनाव?

rahul , rahul gandhi next congress president, congress president list, process of bjp president election, राहुल कांग्रेस के नए अध्यक्ष, कांग्रेस अध्यक्षों की सूची, भाजपा अध्यक्ष का चुनाव कैसे होता है?, व्यंग्य, satire

हिंदी सटायर डेस्क। तो राहुल भैया (Rahul Gandhi) दो-चार दिन में ऑफिशियली कांग्रेस के प्रेसिडेंट बन जाएंगे। प्रेसिडेंट पद के लिए नामांकन पत्र भरे जाने की आखिरी तारीख 4 दिसंबर थी जो गुजर गई। केवल एक ही नाम आया- राहुल भैया का। उनके नामांकन पत्र की जांच 5 तारीख को होगी। उम्मीद यही है कि वह सही-साट ही होगा। तो युवराज अब निर्विरोध राजा बन जाएंगे। इसकी औपचारिक घोषणा 11 दिसंबर को की जा सकती है। मणिशंकर अय्यर ने कहा भी कि बादशाह का बेटा ही बादशाह बनता है। पता नहीं, इस पर बीजेपी वाले क्यों उखड़ गए। ये कांग्रेस का मामला है। कांग्रेस को ही निपटने दीजिए। सवाल यह है कि क्या बीजपी में अध्यक्ष का चुनाव लोकतांत्रिक तरीके से होता है? तो हम ये पड़ताल कर लेते हैं।

पहले जान लीजिए BJP में प्रेसिडेंट चुनाव की शर्तें और प्रोसेस …

– BJP के संविधान के अनुसार अगर किसी को पार्टी का अध्यक्ष बनना है तो उसे कम से कम 15 वर्षों तक सदस्य रहना होगा।
– BJP में राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव निर्वाचक मंडल द्वारा किया जाता है। इस मंडल में नेशनल एग्जीक्यूटिव (राष्ट्रीय कार्यकारिणी) और स्टेट एग्जीक्यूटिव्स (प्रदेश कार्यकारिणी) के सदस्य होते हैं।
– निर्वाचक मंडल में से कोई भी 20 सदस्य राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए किसी भी सदस्य के नाम का संयुक्त रूप से प्रस्ताव कर सकते हैं। दूसरे शब्दों में कहें तो राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव लड़ने वाले सदस्य के लिए इस निर्वाचक मंडल के कम से कम 20 सदस्यों का अनुमोदन जरूरी होता है।
– हालांकि कांग्रेस जैसी ही BJP के संविधान में भी चुनाव की पूरी प्राेेसेस होती है, लेकिन आज तक अटल बिहारी वाजपेयी से लेकर अमित शाह तक जितने भी प्रेसिडेंट हुए, किसी में चुनाव में वोटिंग की नौबत नहीं आई। BJP में भी पहले ही आम राय बन जाती है कि किसे अध्यक्ष बनाना है। फिर केवल वही व्यक्ति नामांकन पत्र दाखिल करता है। वैसे ही जैसे अभी केवल राहुल ने किया।

कांग्रेस और बीजेपी दोनों में परिवार हावी…

कांग्रेस और बीजेपी दोनों में परिवार हावी रहता है। समझ ही गए होंगे कि कौन परिवार? फिर भी बताए देते हैं- कांग्रेस में गांधी परिवार और बीजेपी में संघ परिवार। कांग्रेस में तो यह तय है कि गांधी परिवार से ही अध्यक्ष बनेगा। बीजेपी में पहले बीजेपिये आपस में विचार-विमर्श करके एक नेता का नाम चुन लेते हैं। फिर संघ यानी RSS से उस पर मोहर लगवा लेते हैं। थोड़ी ना-नुकुर होती है तो इधर-उधर एडजस्ट करने की कोशिश करते हैं। तो बन जाता है बीजेपी में अध्यक्ष।

तो किस पार्टी में ज्यादा लोकतंत्र है, ये आप तय कीजिए…हम नी बताएंगे।

(Disclaimer : फैक्ट्स इधर-उधर से वैसे ही उठाईगिरी करके लिए गए हैं, जैसे कि अन्य साइट्स वाले उठाते हैं। हां, स्टाइल हिंदी सटायर का अपना है।)