राहुल गांधी ने फाइनली इस्तीफा दिया, जोक्स इंडस्ट्री ने भी समेटा अपना बोरिया-बिस्तर

rahul-gandhi-jokes , rahul resigns, राहुल गांधी जोक्स, राहुल पर चुटकुले, कांग्रेस पर जोक्स, congress jokes, rahul jokes, राहुल का इस्तीफा

हिंदी सटायर डेस्क। लोकसभा चुनावों में हार के 39वें दिन राहुल गांधी ने आखिरकार ऑफिशियली कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे ही दिया। इसके साथ ही जोक्स एंड चुटकुला इंडस्ट्री ने भी अपना बोरिया-बिस्तर समेटने की घोषणा कर दी। इंडस्ट्री के सूत्रों के अनुसार इससे देश में कम से कम 50 लाख लोगों के बेरोजगार होने की आशंका है।

लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद 25 मई को राहुल गांधी ने पहली बार इस्तीफा दिया था। तब जोक्स इंडस्ट्री के जानकारों ने इसे भी जोक ही समझा था और उसके बाद दो दिन के लिए जोक सूचकांक 25 हजार अंकों की ऊंचाई पर भी पहुंच गया था। लेकिन अपने इस्तीफे पर अड़े रहने के फैसले से धीरे-धीरे इंडस्ट्री में निराशा छाती गई और अंतत: बुधवार को राहुल के फाइनल डिसिजन के साथ ही इंडस्ट्री गर्त में चली गई।

राहुल के इस दुर्भाग्यपूर्ण निर्णय के बाद बुधवार की रात को ऑल इंडिया जोक्स एंड चुटकुला एसोसिएशन के राष्ट्रीय सचिव संताश्रीबंता ने एक प्रेस कांफ्रेंस में दहाड़ मार-मारकर कहा, ‘आज सारी उम्मीदें खत्म हो गईं। हमारी इंडस्ट्री के लिए इससे काला दिन और कुछ नहीं हो सकता। लाखों लोगों के रोजगार पर संकट आ गया है। इतना बड़ा संकट तो तब भी नहीं आया था जब कोर्ट ने टिक टॉक पर बैन लगाया था।’

संताश्रीबंता ने आंसू पोछने के बाद जोक्स एंड चुटकुला इंडस्ट्री में राहुल बाबा के योगदान की सराहना करते हुए उन्हें सदी का ‘मोस्ट एंटरटेनर पॉलिटिशियन’ करार दिया। उन्होंने कहा कि राहुलजी ने जो कुछ किया, उसे कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। उनकी कमी हमेशा खलेगी। हालांकि उन्होंने उम्मीद जताई कि राहुलजी कांग्रेस की कुर्सी से परे रहकर भी कुछ न कुछ ऐसा करते रहेंगे ताकि हम लोगों की लुटी-पिटी दुकान थोड़ी-बहुत चलती रहे।

रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था सूचकांक :

राहुल गांधी के कारण जोक सूचकांक ने पिछले पांच साल के दौरान कई बार रिकॉर्ड बनाए। पिछले साल मई माह में उस समय जोक्स एंड चुटकुला इंडस्ट्री का सूचकांक ऑल टाइम रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था, जब राहुल गांधी ने कहा था कि वे देश का अगला PM बनने को तैयार हैं। इसके बाद सैकड़ों नए जोक्स प्रतिष्ठान खुल गए थे। उस समय इंडस्ट्री ने आंकलन लगाया था कि अगर राहुलजी प्रधानमंत्री बनते हैं तो उससे हर साल 25 लाख से भी ज्यादा जॉब्स के मौके क्रिएट हो सकेंगे।

(Disclaimer : यह खबर कपोल कल्पित है। इसका मकसद केवल मासूम कटाक्ष करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)