स्मिथ को मिले भारतीय राजनीति ज्वॉइन करने के ऑफर मगर ठुकराए, जानिए क्यों?

steve-smith , ball tampering, what is ball tampering, satire on Indian politics, स्टीवन स्मिथ, क्या है बॉल टेम्परिंग का मामला, ball tampering cases, politis jokes, राजनीतिक जोक्स

हिंदी सटायर डेस्क, मेलबर्न। बॉल टेम्परिंग मामले में आजीवन बैन के खतरे का सामना कर रहे आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर स्टीवन स्मिथ को भारतीय राजनीति ज्वॉइन करने के कई ऑफर मिले हैं। इसका खुलासा खुद स्मिथ ने किया है।

कुछ पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में स्मिथ ने कहा, “मेरे पास इंडिया की एक पॉलिटिकल पार्टी से फोन आया था। फोन करने वाला गुजराती टोन वाली अंग्रेजी बोल रहा था। उसने कहा- मोठा भाई, आपने तो कमाल कर दिया। टेम्परिंग में आप हमसे भी आगे निकल गए। कैमरन बेनक्राफ्ट के साथ हमारी पार्टी में आपका स्वागत है।”

स्मिथ ने आगे कहा, “उस इंडियन लीडर ने मेरे जीतने के जज्बे की तारीफ करते हुए यह भी कहा कि मैच में आपने जो कुछ किया, वैसा ही हम राजनीति में करते हैं। आप क्रिकेट के लिए नहीं, राजनीति के लिए बने हैं। आ जाओ, ऑस्ट्रेलिया में दो-चार सीटें जीतकर हम आपको वहां का पीएम बनवा देंगे।”

फिर आया दूसरी पार्टी से फोन…

स्मिथ ने कहा कि इस फोन के दो घंटे बाद मेरे मोबाइल पर एक घंटी और बजी। सामने से आवाज से आई, “तो भैया, वाट् इज यूअर नेक्स्ट प्लान? मैंने कहा- मैं समझा नहीं। तो सामने वाले ने कहा कि भैया, मोदीजी के कहने पर ही आपने बॉल की टेम्परिंग की। मोदीजी के कहने पर ही आपको टीम ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी से मुक्त किया गया। मोदीजी के कारण ही आपको राजस्थान रॉयल्स की कप्तानी छोड़ने को मजबूर किया गया। आप चाहें तो मोदीजी की इस राजनीति का भांडाफोड़ करने के लिए हमारी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।”

स्मिथ ने बताया कि वे आखिरी तक नहीं समझ पएा कि वह शख्स आखिर कहना क्या चाहता था। वह जहां से फोन कर रहा था, उसके पीछे से शायद किसी कार्टून चैनल की तेज-तेज आवाज भी आ रही थी। इसलिए भी समझने में दिक्कत हो रही थी। इसलिए मैंने फोन रख दिया।

एक पत्रकार द्वारा यह पूछने पर कि आपको भारतीय नेताओं से इतने ऑफर मिले हैं तो क्या अब आप भारतीय राजनीति ज्वॉइन करेंगे? इस सवाल के जवाब में स्मिथ ने गुस्से में कहा, “अभी भी मुझमें मॉरल बचा हुआ है। इतना भी नीच काम नहीं किया कि इंडियन पॉलिटिक्स ज्वॉइन कर लूं।” बाद में स्मिथ ने इस संबंध में एक ट्विट भी किया। नीचे पढ़ें वही ट्विट :

(Disclaimer : यह खबर कपोल कल्पित है। इसका मकसद भारतीय राजनीति पर कटाक्ष-व्यंग्य करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)