सुरेंद्र शर्मा की हास्य कविता : जब पड़ोसी की चौथी पत्नी मर गई…

Surendra-Sharma , surendra sharma comedy, Surendra Sharma ki poems, सुरेंद्र शर्मा, सुरेंद्र शर्मा की हास्य कविता, सुरेंद्र शर्मा की चार लाइना, फनी शायरी, फनी कविता, funny shayari

जाने-माने कवि सुरेंद्र शर्मा की हास्य कविता (Surendra Sharma Ki Poem) :

एक दिन म्हारी घराड़ी बोल्ली –
ऐ जी, पड़ोसी की चौथी घराड़ी मरगी
ते शमशान घाट हो आओ
मैं बोल्यो – मैं को तो नी जाऊं
मैं ओके घरा तीन बार हो आयो
वो एक बार भी नहीं आयो…

सुरेंद्र शर्मा की ये कविताएं भी पढ़ सकते हैं…