अपने ‘राजनीतिक गुरु’ को सम्मानित करना चाहते हैं राहुल, गायब हुए सीनियर कांग्रेसी

शिक्षक-दिवस , teachers-day , rahul gandhi jokes, rahul gandhi political guru, राहुल गांधी पर जोक्स, राहुल का गुरु कौन?, राजनीतिक व्यंग्य, political satire 
हाव-भाव पर न जाइए... सच्ची में अपने गुरु को सम्मानित करना चाहते हैं बाबा...

By Jayjeet

हिंदी सटायर डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी की इस मंशा कि वे शिक्षक दिवस के मौके पर अपने राजनीतिक गुरु को सम्मानित करना चाहते हैं, को जानकर कांग्रेस के अधिकांश वरिष्ठ नेता भूमिगत बताए जा रहे हैं। जनार्दन द्विवेदी, जयराम रमेश से लेकर दिग्गी राजा तक ने अपने फोन नॉट रिचेबल कर लिए हैं।

हिंटी सटायर को प्राप्त जानकारी के अनुसार शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर राहुल ने अपने करीबियों से इच्छा जताई कि वे शिक्षक दिवस पर अपने राजनीतिक गुरु को सम्मानित करना चाहते हैं। जैसे ही यह खबर कांग्रेस के गलियारों में फैली, पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में चिंता की लहर दौड़ गई। सीपी जोशी और अहमद पटेल अलग-अलग जगहों पर यह कहते सुने गए कि उन्हें तो राहुलजी से बहुत कुछ सीखने को मिला है, वे भला राहुलजी को क्या गुर दे सकते हैं? मोतीलाल वोरा ने अपने करीबियों से कहा (और यह भी कहा कि यह बात कुछ सूत्रों के जरिए राहुलजी तक पहुंच जाए) कि वे अब राजनीति में बहुत ज्यादा सक्रिय नहीं हैं, इसलिए उन्होंने राजनीतिक आधार पर सम्मानित होना छोड़ दिया है।

दिग्गी को पहले ही हो गया था भान! :
लगता है दिग्गी राजा को पहले से ही भान हो गया था कि शिक्षक दिवस पर राहुलजी कुछ गड़बड़-घोटाला कर सकते हैं। शायद इसीलिए उन्होंने कुछ दिन पहले से अपने गृह राज्य मप्र में कांग्रेस में कलह की स्थिति पैदा करवा दी ताकि राहुल उनके नाम पर अगर विचार कर रहे हों, तो वे छोड़ दें। हालांकि दिग्गी के घोर विरोधी उन्हें राहुल से सम्मानित करवाने के अभियान में जुट गए हैं।

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पित है। इसका मकसद केवल स्वस्थ मनोरंजन और सिस्टम पर कटाक्ष करना है, किसी की मानहानि करना नहीं। )

———————————————-

Gogle Translate (With small modification)

Rahul wants to honor his ‘political guru’, senior Congress leaders disappeared

New Delhi. Senior Congress leaders are learned to underground knowing the Congress leader Rahul Gandhi’s intention that he wants to honor his political guru on the occasion of Teacher’s Day. From Jairam Ramesh to Diggi Raja have made their phones not recoverable.

According to the information received by Hindi Satire, on the eve of Teacher’s Day, Rahul expressed a wish to his close ones that he would like to honor his political guru on Teacher’s Day. As the news spread in the corridors of the Congress, a wave of concern raged among senior party leaders. CP Joshi and Ahmed Patel were heard saying in different places that they have got a lot to learn from Rahulji, what good can they give to Rahulji? Motilal Vora told his close ones (and also said that it should reach Rahulji through some sources) that he is no longer very active in politics, so he has stopped being respected on political grounds.

Diggi had already realized :
It seems Diggi Raja had already realized that Rahul ji can do some wrong-doing on Teacher’s Day. Perhaps that’s why he created a squabble in the Congress in his home state of Madhya Pradesh a few days ago so that if Rahul is considering his name, then he should leave. However, Diggi’s staunch opponents have started campaigning to get him awarded to Rahul.