Bihar 12th Results : तीन दिन बाद भी एक भी गड़बड़ी सामने नहीं आई, सरकार ने दिए जांच के आदेश

bihar-exam-results , Bihar 12th Exam Results, BSEB, बिहार में 12वीं के नतीजे, के.एन. प्रसाद वर्मा, Bihar 12th Exam Results merit list, बिहार में 12वीं मेरिट लिस्ट

By Jayjeet

हिंदी सटायर डेस्क। बिहार में 12वीं के रिजल्ट डिक्लेयर होने के तीन दिन बाद भी कोई गड़बड़ी सामने नहीं आने से राज्य की पूरी परीक्षा प्रणाली ही संदेह के घेरे में आ गई है। इस बीच, चौतरफा आरोपों से घिरी राज्य सरकार ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड (BSEB) ने शनिवार को 12वीं के नतीजे घोषित किए थे। इसके बाद से ही तमाम मीडिया वाले गड़बड़ी ढूंढने में लग गए। आज सुबह तक जब कोई भी बड़ी गड़बड़ी नहीं मिली तो सबसे पहले राजद के तेजस्वी यादव सामने आए। उन्होंने नीतीश कुमार सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, “बिहार के नतीजे सबके लिए मिसाल रहे हैं। कई लोग अपने बच्चों को बिहार से केवल इसलिए एग्जाम दिलवाते हैं कि यहां मेरिट में आने का अच्छा-खासा स्कोप होता है। लेकिन ताजा नतीजों में कोई गड़बड़ी नहीं होने से बिहार की पूरी इज्जत मिट्टी में मिल गई है। अगर आज लालूजी जेल से बाहर होते तो बिहार को ये दिन देखने की नौबत नहीं आती।”

बड़ी गड़बडी की ओर इशारा :

बिहार की शिक्षा और परीक्षा व्यवस्था को करीब से जानने वाले एक्सपर्ट्स का भी मानना है कि अगर कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई है तो इसका मतलब है कि कोई न कोई तो बड़ी गड़बड़ जरूर हुई है। ऐसे में सरकार को पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करवानी चाहिए और जरूरत पड़ने पर फिर से एग्जाम ली जानी चाहिए। आखिर यह दो-चार नहीं, हजारों बच्चों के भविष्य से जुड़ा मामला है।”

शिक्षा मंत्री ने भी आश्चर्य जताया :

इस बीच, राज्य के शिक्षा मंत्री के.एन. प्रसाद वर्मा ने भी इस पर आश्चर्य जताया है कि आखिर ऐसा कैसे हो सकता है? हालांकि उन्होंने कहा कि अभी रिजल्ट को डिक्लेयर हुए केवल तीन दिन ही हुए हैं। उम्मीद है कि एक-आध सप्ताह में कोई न कोई गड़बड़ी जरूर आएगी। इस बीच, उन्होंने एग्जाम लेने और देने के तरीकों की राज्य स्तरीय जांच का ऐलान भी कर दिया है।

(Disclaimer : यह खबर कपोल कल्पित है। इसका मकसद केवल सिस्टम पर कटाक्ष करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)