Thursday, September 24, 2020
Guest Satire

Guest Satire

जहां पुरस्कार वहीं विवाद

(अतिथि व्यंग्यकार) अरविन्द कुमार लगता है कि पुरस्कार ने भी कभी चौथ का चाँद ज़रूर देखा होगा। तभी तो, हमेशा ही उस पर कोई न...

मुर्गी या अंडा, कटआउट और झण्डा

(अतिथि व्यंग्यकार) ओम वर्मा भारत त्योहारों का देश है। यकीन न हो तो आप कोई भी कैलेंडर उठाकर देख लें। हर दिन किसी न किसी...

निन्दक नियरे राखिए …!

(अतिथि व्यंग्यकार) देवेन्द्रसिंह सिसौदिया निंदक नियरे राखिए, आँगन कुटी छवाय। बिन पानी, साबुन बिना, निर्मल करे सुभाय।। आज से आठ सौ वर्ष पूर्व महान सन्त कबीर दास...

कहाँ दाल, कहाँ मुर्गी!

(अतिथि व्यंग्यकार) ब्रजेश कानूनगो मुर्गी फिर चर्चा में है इन दिनों. महंगाई के दौर में कुछ अलग ढंग से चर्चा में है. प्रजातंत्र में किसी...

इस छोटे मोटे देश में

(अतिथि व्यंग्यकार) अरविन्द कुमार यह तो अक्सर सुनने में आता है कि बड़े बड़े देशों में छोटी मोटी घटनाएं होती रहती हैं। पर यह कभी...

धीरज रखो, सबका विकास होई

(अतिथि व्यंग्यकार) अशोक मिश्र गांव पहुंचा, तो रास्ते में मिल गए मुसई काका। मैंने उन्हें देखते ही प्रणाम किया, तो उन्होंने किसी लोक लुभावन सरकार...

डेंगू से विचलित गणेश

(अतिथि व्यंग्यकार) अभिषेक अवस्थी भगवान गणेश दिल्ली के एक निजी पाँच सितारा हॉस्पिटल के दौरे पर थे। वहाँ भी लोग रो रहे थे, किन्तु सामाजिक मान-मर्यादा...

भेड़, भीड़, भगदड़ और चूड़ियां

(अतिथि व्यंग्यकार) अरविन्द कुमार   कभी आपने भेड़ों को झुण्ड में चलते देखा है? जरूर देखा होगा। आगे वाली भेड़ जिस दिशा में और जिस...

मैं प्याज बोल रहा हूँ!

(अतिथि व्यंग्यकार) ओम वर्मा प्याज नाम है मेरा...! प्यार से लोग मुझे कांदा भी कहते हैं। आज तक  मैंने आपसे कभी 'सीधी बात' तो नहीं...

ये श्रद्धांजलि विशेषज्ञ

(अतिथि व्यंग्यकार) ओम वर्मा पूर्व राष्ट्रपति कलाम जो कई मायनों में अभूतपूर्व भी थे, के निधन पर देश तो ठीक अमेरिका के व्हाइट हाउस तक...