प्रधानमंत्री की बायोपिक पर रोक, अमित शाह ने मोदी का मुंह मीठा करवाया

narendra-modi-biopic , Biopic PM Narendra Modi , मोदी की बायोपिक फिल्म, मोदी की बायोपिक फिल्म का नाम क्या है, Biopic PM Narendra Modi jokes, modi jokes, मोदी पर जोक्स, केजरीवाल पर जोक्स, kejriwal jokes, Jayjeet
चुनाव आयोग के फैसले के बाद मोदी भाजपा मुख्यालय पहुंचे जहां प्रसन्नचित्त शाह ने उनका मुंह मीठा करवाया।

By Jayjeet

हिंदी सटायर डेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ की रिलीज पर रोक लगाने के चुनाव आयोग के फैसले से भाजपाइयों में खुशी की लहर दौड़ गई। भाजपा कार्यकर्ताओें ने आतिशबाजी कर और एक-दूसरे को लड्डू खिलाकर इसका स्वागत किया। वहीं, AAP नेता अरविंद केजरीवाल ने इस मुद्दे पर भाजपा और चुनाव आयोग पर एक बार फिर मिली-भगत का आरोप लगाया है।

इस बायोपिक को लेकर अमित शाह सहित तमाम भाजपा नेता पिछले कई दिनों से बेचैन थे। सब भगवान से प्रार्थना कर रहे थे कि वह 11 तारीख आए ही नहीं, जिस दिन बायोपिक रिलीज होनी है। एक भाजपा नेता ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, ‘उस मूवी में विवेक ओबेराय ने प्रधानमंत्रीजी की इतनी अंडर-एक्टिंग की है कि क्या बताएं। शर्म आती है कि एक्टर होकर भी एक्टिंग नहीं कर पा रहे हो। और हमारे प्रधानमंत्रीजी को देखिए, विवेक से अच्छी एक्टिंग तो वही कर लेते हैं।’

इस बायोपिक पर बैन को लेकर बीजेपी के नेता कई दिनों से कोशिश कर रहे थे। चुनाव आयोग के कई अफसर भी अमित शाह से लगातार संपर्क में थे। लेकिन शाह को लग रहा था कि सुप्रीम कोर्ट से उन्हें राहत मिल जाएगी। पर जब दो दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस पर बैन लगाने से इनकार कर दिया तो आयोग ही अंतिम विकल्प बचा।

केजरीवाल का # सब मिले हैं जी…हैशटैग से 30 हजारवां ट्विट :

मोदी की बायोपिक पर चुनाव आयोग के फैसले की कड़ी आलोचना करते हुए अरविंद केजरीवाल ने ‘सब मिले हैं जी’ हैशटेग से 30 हजारवां ट्विट करते हुए कहा- मैं पहले ही कहता था कि बीजेपी और चुनाव आयोग मिले हैं। अब फिर से साबित हो गया। अगर आयोग निष्पक्ष होता तो मोदी की बायोपिक को रिलीज करने देता।

नीचे यह भी देखिए, आयोग के फैसले के बाद मोदी क्या बोले…

 

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पित है। इसका मकसद केवल स्वस्थ्य राजनीतिक व्यंग्य करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)