Exclusive : राहुल गांधी ने अमित शाह को लिखा पत्र, मांगी ऐसी मदद

petrol-price , reason for high petrol price, rahul gandhi jokes, amit shah jokes, पेट्रोल के दाम, पेट्रोल-डीजल जोक्स, political satire, राहुल गांधी जोक्स, कांग्रेस पर जोक्स
भैया, मदद करो... आप ही कर सकते हों ये...

(Petrol Price Hit New High) : पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान पर पहुंचने के बाद भी इस मुद्दे को जनांदोलन बनाने में नाकाम रही कांग्रेस ने अब इस मामले में बीजेपी से मदद मांगी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को इस संबंध में पत्र लिखकर देशहित में आगे आने का अनुरोध किया है।

देश में इस समय पेट्रोल और डीजल की कीमतें पिछले 6 साल में सबसे ज्यादा हैं। इक्के-दुक्के बयानों और छुटपुट प्रदर्शनों के अलावा कांग्रेस इस पर कोई भी आंदोलन खड़ा करने में खुद को नाकाम पा रही है। बुधवार को मोदी-आसाराम का 5 साल पुराना वीडियो जारी करने के बाद पार्टी मुख्यालय में खुशी मनाने के लिए एकत्र हुए पार्टीजनों ने पेट्रोल-डीजल के मुद्दे पर भी चर्चा की। राहुल गांधी ने इस मामले में कोई जनांदोलन खड़ा नहीं करने पर भरपूर नाराजगी जताई।

राहुल को बार-बार कुर्ते की बांह चढ़ाते देखकर उनके 11 सलाहकारों ने कहा कि अभी तो अपनी पार्टी देश के चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग जैसे गंभीर मसले पर बिजी है। इसलिए पार्टी नेताओं को पेट्रोल जैसे मसले पर इतनी धूप में सड़कों पर उतरने से बचना चाहिए। इससे हम मोदी सरकार के खिलाफ अपने अभियान में डी-फोकस हो सकते हैं। एक सलाहकार ने कहा कि पेट्रोल-डीजल जैसे मामलों में प्रदर्शन करने के लिए हमें भाजपा से ही मदद लेनी चाहिए। प्रदर्शन और नाटक-नौटंकी करने की उसकी स्किल का जवाब नहीं है। हमें यह काम उसे ही आउटसोर्स कर देना चाहिए। मलाई खाते-खाते उनकी भी तोंदें निकलने लगी हैं। तो थोड़ी चर्बी उनकी भी छंट जाएगी।

तो राहुल ने अमित शाह को ऐसा लिखा पत्र :

अपने सलाहकारों की सलाह को मानते हुए राहुल ने खुद अमित शाह को पत्र लिखा। इसकी एक कॉपी हिंदी सटायर को भी मिली है। इसमें राहुल ने जो लिखा, उसे हूबहू पेश कर रहे हैं :

अादरणीय अमित जी,

जैसा कि आपको विदित ही होगा कि इस समय केंद्र में मोदी सरकार कार्य कर रही है। उसके शासनकाल में पेट्रोल-डीजल की कीमतें काफी बढ़ गई हैं। वैसे मेरे पास तो अपनी कार भी नहीं है। पार्टी कार्यकर्ताओं की कार में ही घूमता हूं। पर उन्हें भी तो पेट्रोल-डीजल के लिए काफी खर्च करना होता होगा। अब बेचारे परिवार के सामने मुंह खोलते नहीं है, लेकिन उनकी पीड़ा को मैं समझता हूं। इसलिए मुझे लगता है कि अब इस मामले में जनांदोलन खड़ा करने का वक्त आ गया है।

भाजपा की प्रतिष्ठा राई को पहाड़ बनाने की रही है। ऐसे में इतने महत्वपूर्ण मामले में आप पीछे कैसे रह सकते हैं? देश आपको पुकार रहा है। यह वक्त पार्टी-लाइन से ऊपर उठकर देश के लिए सड़कों पर उतरने का है। उम्मीद है इस मामले में आप प्रदर्शन-नाटक नौटंकी में एक्सपर्ट भाजपा कार्यकर्ताओं को सड़कों पर उतरने का आदेश देंगे। हम इस समय महाभियोग के अभियान में बिजी हैं। इसलिए फिलहाल आपके साथ नहीं रहेंगे, लेकिन हमारा नैतिक समर्थन हमेशा आपके साथ रहेगा। अगर वक्त मिलेगा तो एक-दो कैंडल मार्च निकालने का प्रयास जरूर करेंगे।

आपका ही प्रिय
राहुल बाबा

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पित है। इसका मकसद केवल राजनीतिक व्यंग्य करना है, किसी की मानहानि करना नहीं।)

(By : A. Jayjeet)