जब राफेल से मिलने पहुंच गए राहुल, जानिए फिर क्या हुई बातचीत …

Rahul Rafale , राफेल जोक्स, राफेल राहुल जोक्स, rahul rafel jokes,rahul satire, rafale india rafale deal, rafale jet, Rafale-Jet-and-Rahul-Gandhi
राफेल से बातचीत करते राहुल गांधी।

(Satire: When Rahul reached to meet Rafale, know what happened then …)

By Jayjeet

अंबाला। लंबे सफर के बाद एक लंबी नींद। नींद के बाद जैसे ही राफेल ने आंखें खोलीं, उसे सामने एक शख्स नजर आया। चेहरे पर मास्क था। इसलिए पहचानने में थोड़ी दिक्कत हुई। लेकिन राफेल कुछ बोले, उससे पहले ही उसे आवाज सुनाई दी- राफेल भैया, नमस्कार।

अब राफेल को पहचानने में देर ना लगी- अच्छा राहुल भैया आए हैं। और सुनाओ, कैसे आना हुआ।

राहुल : बस भैया, आपका नाम बहुत सुना था, तो सोचा खुद ही मिल आऊं..

राफेल : हां, नाम तो मैंने भी आपका बहुत सुन रखा है।

राहुल : अच्छा! क्या सुन रखा है मेरे बारे में?

राफेल : एक तो यह कि आप सवाल बहुत पूछते हों और सवाल पूछने के चक्कर में आपने एक बार यह सवाल भी पूछ डाला था कि राफेल नडाल पर सरकार इतना खर्च करने क्यों जा रही है?

राहुल : हां, याद आया। वो शुरू में हमारे सलाहकारों ने कुछ कन्फ्यूज कर दिया था। हमें लगा था कि सरकार देश में करोड़ों खर्च कर टेनिस प्लेयर राफेल नडाल को ला रही है। इस सरकार का कुछ भरोसा नहीं…

राफेल : भई, सरकार की तो हम ना जानें, हमें तो फ्रांस सरकार ने कहा कि इंडिया जाना है तो चले आए। पर आप मुझसे मिलने यहां क्यों चले आए?

राहुल : राफेल भैया, सबसे पहले तो हम आपको पोलाइटली क्लियर कर दें कि सवाल पूछने का काम हमारा है। पर आप हमारे मेहमान हैं तो आपके सवाल का जवाब दे देते हैं। हम तो बस ये पूछने आए थे कि आप हमसे नाराज तो नहीं हों?

राफेल : आपसे नाराज क्यों होने लगा भला?

राहुल : मैंने आपका नाम ले-लेकर काफी कुछ बोला हैं ना, इसलिए पूछ रहा हूं।

राफेल : अरे बाबा, मुझे क्या भाजपा के प्रवक्ता या मोदी के मंत्री समझ रखा है जो मैं आपकी हर बात को इतना सीरियसी लूंगा?

राहुल : मतलब भैया, आप नाराज नहीं हैं ना? बस यही सुनने आया था। आज मैं चेन से सो सकूंगा। कल तो मैं रातभर छत पर खड़े होकर बस आसमां की ओर ही देखता रहा कि कभी गुस्से में ऊपर से फट ना पड़ो… अच्छा चलता हूं। अब ना मिलेंगे…!

ऐसे ही मजेदार खबरी व्यंग्यों के लिए यहां क्लिक करें

मजेदार खबरी जोक्स के लिए यहां क्लिक करें

————————————————————————————————-

Google Translation (With small modification)

When Rahul reached to meet Rafale, know what happened then …

Ambala. A long sleep after a long journey. As Rafale opened his eyes after sleep, he saw a man in front of him. There was a mask on the face. So there was some difficulty in identification. But before Rafale said anything, he heard the voice- Rafale Bhaiya, Namaskar.

It did not take long to identify Rafael – well Rahul Bhaiya. And tell me, how did you come?

Rahul : Just Bhaiya, I had heard your name a lot, so thought I should meet myself ..

Rafale : Yes, I have too heard your name a lot.

Rahul : Good! What about you?

Rafale : One is that you ask a lot of questions and in the spur of asking questions, you even once asked that question, why is the government going to spend so much on Rafale Nadal?

Rahul : Yes, remember. I was initially confused by our advisors. We felt that the government is spending millions in the country to bring tennis player Rafale Nadal. There is no trust of this government …

Rafale : Bhai, we do not know about the government, the French government said to go to India, I came here. But why did you come here to meet me?

Rahul : Rafael Bhaiya, first of all, let me clear you politely that it is my job to ask questions. But as you are our guest, I answer your question. I had just come to ask, are you angry with me?

Rafale : Why did I get angry with you?

Rahul : I have spoken a lot about your name, right, so I am asking.

Rafale : Hey Baba, am I BJP spokesperson or Modi’s minister, who will take so much serious on your chit-chat?

Rahul : It means, you are not angry with me? Just came to listen this one. Today I will be able to sleep. Yesterday, I kept standing on the roof overnight and just kept looking towards the sky to never get angry from above. Will not see you now…! by by…

अब आप इस पोर्टल के चुनिंदा व्यंग्य हमारी सहयोगी वेबसाइट http://editorsview.in/ पर भी पढ़ सकते हैं…

# Rahul Rafale