कांग्रेस को मिल सकता है नया अध्यक्ष, कांग्रेसियों में खुशी की लहर!!

rahul-with-pidi , jokes on rahul, अपने कुत्ते के साथ राहुल गांधी, राहुल गांधी का कुत्ता, pet of rahul gandhi, rahul per jokes, राहुल गांधी पर जोक्स, राहुल गांधी के कुत्ते का नाम, राजनीतिक व्यंग्य, political satire

हिंदी सटायर डेस्क। बुधवार को जैसे ही राहुल गांधी की अपने प्यारे पेट ‘पीडी’ के साथ तस्वीर वायरल हुई, कांग्रेसियों में नई जान आ गई। उन्हें लगा कि अब अगर राहुलजी अध्यक्ष का पद छोड़ते भी हैं तो कोई गम नहीं। कांग्रेसियों ने एक स्वर में राहुल से बेहद भावुक अपील करते हुए कहा, “हम नहीं चाहते कि आप अध्यक्ष का पद छोड़ें। लेकिन अगर आपने तय कर ही लिया है तो हम रोकेंगे नहीं। लेकिन आप कम से कम अपनी जगह पर पीडी भैया को अध्यक्ष नियुक्त कर दीजिए। इससे हम अनाथ महसूस नहीं करेंगे।”

गौरतलब है कि लोकसभा चुनावों में हार के बाद से ही राहुल गांधी अध्यक्ष पद छोड़ने पर अड़े हुए हैं और कांग्रेसियों से नए अध्यक्ष का चुनाव करने का आग्रह कर रहे हैं। एक वरिष्ठ नेता ने कहा, राहुल भैया क्यों कांग्रेसियों से कहते फिर रहे हैं कि नया अध्यक्ष ढूंढ लो। ये तो वही बात हुई कि काख में छोरा और शहर भर में ढिंढोरा।

एक अन्य सीनियर कांग्रेसी नेता ने खुशी से चहकते हुए कहा, राहुल जी गांधी परिवार से बाहर का अध्यक्ष चाहते थे, तो लो मिल गया। टेक्नीकली पीडी भैया गांधी परिवार से बाहर के हैं और प्रैक्टिकली गांधी परिवार के करीबी भी हैं। इससे कांग्रेसियों को यह एहसास होता रहेगा कि गांधी परिवार कांग्रेस को छोड़कर कहीं नहीं गया। इतना ही नहीं, इससे उन विरोधियों को भी मुंहतोड़ जवाब मिल जाएगा जो भारत को ‘कांग्रेस मुक्त’ करना चाहते हैं।

राहुल ने कहा, मैं तैयार पर पीडी तो मानें : 

राहुल गांधी के करीबी सूत्रों के अनुसार वे खुद भी पीडी को आधिकारिक तौर पर यह जिम्मेदारी देना चाहते हैं। करीब दो साल पहले राहुल बता ही चुके हैं कि उनके सारे ट्वीट पीडी ही करते हैं। माना जाता है कि राहुल जिस तरह के भाषण बोलते हैं, शायद लिखते भी पीडी ही होंगे। ऐसे में पीडी को अध्यक्ष बनाने से कार्यकर्ताओं को भी राहुल की कमी का एहसास नहीं होगा। लेकिन पीडी ऑफिशियली यह जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं हैं। इस बीच, खबर मिली है कि पीडी को मनाने के लिए कांग्रेस के कई दिग्गज नेता राहुल गांधी के घर जाएंगे। जरूरत पड़ने पर यूपीए अध्यक्ष की भी मदद ली जाएगी।

(Disclaimer: बताने की जरूरत नहीं कि यह खबर घोर कपोल-कल्पित हैं। लेकिन मकसद प्योर है- केवल राजनीतिक कटाक्ष करना, किसी की मानहानि करना नहीं।)